Thane-Checknaka(Mah) – ​Award to Brahma Kumaris by Govt. of Maharastra

महाराष्ट्र शासन की तरफ से १३ करोड़ पेड़ लगाने के लक्ष्य को सफल बनाने हेतु काफी संस्थानों ने और व्यक्तियों ने अपना सहयोग दिया. इसमें ब्रह्माकुमारी संस्था का भी अमूल्य योगदान रहा है.
 
संस्था के थाने शहर में सावरकर नगर और लुइस वाड़ी इलाके में पेड़ लगाए. खारीगांव टोल नाका पर सभी वाहन चालकों और नागरिकों को पेड़ लगाने हेतु बीज बाटे गए. इतना ही नहीं, विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष में ब्रह्माकुमारीज़ ने पर्यावरण को बचाने हेतु विशेष योग साधना का आयोजन किया गया.
 
ब्रह्माकुमारी संस्था के सहयोग को देखते हुवे महाराष्ट्र राज्य के सार्वजनिक बांधकाम (उपक्रम) मंत्री मा. श्री एकनाथ शिंदे जी ने संस्था की थाने चेकनाका प्रभारी ब्रह्माकुमारी सरला को पुरस्कार देकर सन्मानित किया. इस अवसर पर थाने शहर के महापौर श्रीमती मिनाक्षी शिंदे, कलेक्टर श्री. नार्वेकर जी, महानगरपालिका आयुक्त मा. श्री. संजीव जैसवाल जी उपस्थित थे. 

Good Bye Diabetes Camp

On the occasion of “International Yog Day” Brahma Kumaris – organised Diabetes Seminar at Mulund-Mumbai by BK Dr. Shrimant Sahu

Goodbye Diabetes - Dr Shreemat Sahu (3)

Senior Citizen Award 2018

Received “Senior Citizen Award” through Dr Sham Pandey President of “Adhar Foundation- Kalwa to BK Godavari Didiji – Brahma Kumaris Mulund Subzone Incharge , honours to BK Lajavati Didiji & BK Latika Didiji, Stage Guest – Bro. Sopan Bogane- Senior journalist, BK Godavari Didi ji, Bro. Kaji Al Haz Hafiz- Hepls Haz Yatri, Advocate Bro. Nandkumar Rajorkar- Mumbai high Court, Bro. Brijpal Singh – General Security MH – Children Care Centar, Bro. Abasaheb Askar – Senior journalist

Swachyata Rally – 2018 – Organised by Brahma Kumari Thane Check Naka Centre

Mahashivratri 2018 – “Shiv Darshan Spiritual Exhibition” – Mulund, Mumbai

१३ फरवरी २०१८ , मुलुंड सेवाकेंद्र  सेवा समाचार
महाशिवरात्रि महोत्सव – “शिव दर्शन आध्यात्मिक मेला”
महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर ब्रह्माकुमारीज़ मुलुंड सब जोन द्वारा  “शिव दर्शन आध्यात्मिक मेला” का आयोजन १३ फरवरी से १९ फरवरी तक किया गया। , १२ फरवरी सुबह १० बजे मेले के निम्मित शोभा यात्रा का आयोजन किया गया, यह यात्रा मुलुंड शहर के मुख्य स्थानों से गुजरते हुए अनेक आत्माओं तक शिव सन्देश पहोचाया तथा  मेले के लिए विशेष आमत्रित करते हुए यह यात्रा सम्पन हुई।
१३ जनवरी शाम ६ बजे मुख्य अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्जवलित कर इस मेले का उद्घाटन किया गया। इस सुअवसर पर मुलुंड के जाने माने आ. दैवी भ्राता सरदार तारा सिंगजी ( एम्.एल.ए -मुंबई ), माननीय भ्राता जगजीवन भाई तन्ना जी ( माजी नगरअध्यक्ष ), माननीय भ्राता श्री १०८ श्रीमान श्रीमहंत श्री ब्रह्मऋषि महाराज ( उदासीन आश्रम ), आदरणीय रेखा बेन मेहता ( एडवोकेट मुलुंड ), माननीय भ्राता अखिलेश कुमार सिंह ( डी.सी.पी – मुंबई ७ ), राजयोगिनी गोदावरी दीदीजी ( मुलुंड सब जोन संचालिका), ब्रह्माकुमारी लाजवंती दीदी ( भांडुप सेवाकेंद्र संचालिका ) तथा बी के भाई बहनों के उपस्तिथि में संपन्न हुआ।
इस मेले के मुख्य आकर्षण इस इस प्रकार है।
१ – द्वादश ज्योतिर्लिंग दर्शन
२ – बद्रीनाथ दर्शन
३ – गणपति दर्शन अभिषेक
४ – मार्कण्डेय ऋषि को शिव का वरदान
५ – पारिवारिक मूल्य
६ – मेरा भारत – स्वच्छ भारत
७ – वैष्णव देवी दर्शन
८ – सर्वागीण स्वस्थ
साथ ही इस महोत्सव में शांति अनुभूति के लिए मेडिटेशन रूम बनाया गया है। जिसमें राजयोग की कमेंट्री द्वारा सबको शांति की अनुभूति कराई गई । नैतिक तथा आध्यात्मिक मूल्य पर आधारित इस मेले का अनेक आत्माये लाभ ले रही है। मुलुंड सब जोन के मुख्य संचालिका ब्रह्माकुमारी राजयोगिनी गोदावरी दीदी जी के मार्गदर्शन से यह प्रोग्रम संपन्न हुआ।

 

“सत्यमेव जयते से फैला सत्य का प्रकाश”

IMG_6138

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के भांडुप वेस्ट सेवाकेंद्र की ओर से १ अक्तूबर २०१७ को जैनम हॉल में  ‘सत्यमेव जयते’ इस विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया।कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में बी. के. ब्रिजमोहन भाई , प्रमुख अतिथि के रूप में विश्वविख्यात शास्त्रीय गायक डॉ पंडित अजय पोहनकर, सन्माननीय अतिथि के रूप में नवशक्ती के संपादक मा. सुकृत खांडेकर, फिल्म निदेशक मा. नरेंद्र मुधोलकर, फिल्म निर्माता संदीप राक्षे सहित कई गणमान्य व्यक्तियों ने कार्यक्रम में भाग लिया।

आदरणीय भ्राता बी.के. ब्रिजमोहन भाईजी ने (अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज) अ​​पने उद्बोधन में कहा कि, एक समय हम सभी सत्य की दुनिया सतयुग के वासी थे।हर मानव के अंदर सदाचार और सत्यता थी। अब कलियुग में सब जगह झूठ का ही बोलबाला है। कोर्ट में गीता के ऊपर हाथ रखकर भी झूठी कसम उठाते है।इस दुनिया की सत्यता की गहराई गायब नहीं होती,तो इसको मृत्यु लोक नहीं कहा जाता। हम सभी जानते है की, इस समय की दुनिया को मृत्यु लोक कहते है इसका मतलब है कि, कभी यह दुनिया अमरलोक थी जिसको सतयुग के नाम से जाना जाता है।
सत्य की परिभाषा स्पष्ट करते हुये उन्होने कहा कि,सत्य उसे कहा जाता है जो पहले था,आज है और कल भी रहेगा।भगवतगीता में आत्मा के बारे में लिखा है कि, आत्मा अजर-अमर, अविनाशी है जिसे तलवार से काटा नही जा सकता,पानी से भीगोया नही जा सकता,आग से जला नही सकते। लेकीन विडंबना तो यह है कि,शरीर जो विनाशी है उसे खुद समज बैठे हैऔर आत्मा जो इस शरीर को चलानेवाली चेतन शक्ति है उसे भूल गये है।हम शरीर के लिये सारी जिंदगी भर मेहनत करते है लेकिन आत्मा की उन्नती के लिये कुछ भी नही करते।जीवन की सभी समस्याओ से मुक्त होने के लिये उन्होने अनुरोध किया कि, हम आत्मा के प्रेम .सुख ,शांति,आनंद इन वास्तविक स्वरुपो में स्थित हो सर्वशक्तिवान परमात्मा को याद करे।
डॉ पंडित अजय पोहनकर (विश्वविख्यात शास्त्रीय गायक): उन्होने अपने विचार वक्त करते हुये कहा कि, मै इस कार्यक्रम में आकर अपने आप को भाग्यवान महसूस कर रहा हू। प्रमुख वक्ता बी.के.ब्रिजमोहन भाईजी ने सत्यमेव जयते विषय पर किया हुआ व्याख्यान सिर्फ तालीयों के लिये नही बल्की सत्य की राह पर चलने के लिये पथप्रदर्शक है।सत्य के साथ क्षमा भाव भी बहुत बडा गुण है।प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विदयालय में भी सभी को क्षमा करने की शिक्षा दी जाती है।कार्क्रम में उन्होंने एक गीत गाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।
१. मा.सुकृत खांडेकर (संपादक, नवशक्ती )जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि,आज संसार में झुठ ही झुठ है। ऐसे में ब्रह्माकुमारी संस्था के द्वारा इस तरह का कार्यक्रम करना प्रशंसनीय है। ये लोग बिना किसी अपेक्षा के समाज परिवर्तन के निरंतर कार्यरत है।उन्होने आगे कहा कि, इनके कार्य को देखते हुये मैने अपने नवशक्ती समाचार पत्र में ‘चैतन्य साधना’ नाम से लेख प्रकाशित करने शुरू किये है।
2.मा.नरेन्द्र मुधोलकरजी ने (क्रिएटिव हेड,फिल्म एव टेलीविजन सीरियल) ने अपने जीवन के अनुभव बताते हुये कहा कि,मै बचपन में बहुत ही झुठ बोलता था,जिसके कारण झुठ को साबित करने फिर झुठ बोलना पडता था.लेकीन एक बार मैने मुलाकात में सच बताया तो मुझे सहाय्यक निदेशक के लिये चुना गया।
३. मा.संदीप राक्षेजी ने (फिल्म निर्माता ) नेअपनी ब्राह्मकुमारीज मुख्यालय माउंट आबू की यात्रा का अनुभव सुनाया और सभी को एक बार माउंट आबू का दर्शन करने के लिये कहा।
मुलुंड सबझोन संचालिका बी के गोदावरी दीदी ने अपने आशीर्वचन से सभी को लाभान्वित किया।
भांडुप वेस्ट सेंटर संचालिका बी.के. लाजवंती बहनजी ने कार्यक्रम का उद्देश्य एवं सभी मेह्मानों का शब्दों से स्वागत किया।
बी.के.बिंदिया ने (राजयोग शिक्षिका, ठाणे सेवाकेंद्र ) सभी को राजयोग की गहन अनुभूति करायी।

Mulund – Mumbai – Rakshabandhan 2017

Airoli – Senior Citizens Get together

Mulund – Senior Citizen Programme